Sunday, December 13, 2015

फूल पर कविता

फूल होते होते कितने सुन्दर
ला ला लला ला
कितने रंग-बिरंगे
ला ला लला ला
उगता पेड़  पर
ला ला लला ला
 पर रहतेहमेशा लाल गुलाबी
ला ला लला ला
 फूल  होते होते कितने सुन्दर
 कितने रंग-बिरंगे

No comments:

Post a Comment