Sunday, December 13, 2015

चिड़ियाँ पर कविता

चिड़ियाँ होती कितनी  सुंदर
करती चू चू  चू , चू चू  चू , चू चू  चू
 उड़ती आसमान मे
करती चू चू  चू , चू चू  चू , चू चू  चू
 रहती पेड़ पर
करती चू चू  चू , चू चू  चू , चू चू  चू
  हर     सुबह   हमें  जगाती
  करती चू चू  चू , चू चू  चू , चू चू  चू
  चिड़ियाँ होती कितनी  सुंदर
 करती चू चू  चू , चू चू  चू , चू चू  चू

No comments:

Post a Comment